अब बिहार के बाद, गुजरात में भी टॉपर घोटाला

Jul 02, 2016

बिहार के टॉपर्स घोटाले के बाद अब गुजरात में भी ऐसा ही मामला सामने आया है. क्लास 10 जैसी महत्वपूर्ण परीक्षा में भी स्कूलों की तरफ से लापरवाही देखी गई है.

नकल के संदेह में गुजरात सेंकेडरी एंड हॉयर सेंकेडरी एजुकेशन बोर्ड (GSHSEB) के अधिकारियों ने 10वीं क्लास के 500 छात्रों की गणित ऑब्जेक्टिव के पेपर की जांच कराई थी. जिसके परिणाम हैरान करने वाले हैं.

परीक्षा के दौरान पूछे गए सवालों का अधिकांश छात्र जवाब ही नहीं दे पाए.

इन सभी छात्रों को गणित के इस पेपर में 80 से 85 फीसदी नम्बर दिए गए है. जबकि कुछ को  90 फीसदी तक नम्बर दिए गए है. जबकि इन्हीं छात्रों को गणित सब्जेक्टिव के पेपर में जीरो नम्बर दिए गए हैं.

ये भी पढ़ें :-  लालू यादव के विवादित बोल, पीएम नरेंद्र मोदी हिजड़ा है और अमित शाह गैंडा

सीसीटीवी फुटेज के आधार पर जब गुजरात एजुकेशन बोर्ड के अधिकारियों ने बच्चों से पूछताछ तो बच्चों ने बताया कि उन्हें सीसीटीवी कैमरे के पीछे से टीचरों द्वारा जवाब बताए जा रहे थे.

परीक्षा परिणामों में हो रही इस हेरा-फेरी की असल वजह इन स्कूलों को राज्य सरकार की तरफ से मिलने वाला ग्रांट है. राज्य सरकार गैर सरकारी स्कूलों को उनकी परफार्मेंस के आधार पर वित्तीय सहायता देती है. माना जा रहा है कि ये वित्तीय सहायता ही ऐसे फर्जीवाड़े का कारण बन रही है.

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

ये भी पढ़ें :-  मायावती ने कहा, भाजपा मतलब भारतीय जुमला पार्टी

 

 

 

 

 

 

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected