आधार कार्ड न होने पर गर्भवती को अस्पताल से भगाया, बाद में हुआ कुछ ऐसा जिसे जानकार रह जायेंगे हैरान

Jan 30, 2018
आधार कार्ड न होने पर गर्भवती को अस्पताल से भगाया, बाद में हुआ कुछ ऐसा जिसे जानकार रह जायेंगे हैरान
जौनपुर में एक शर्मनाक मामला सामने आया जहाँ पर एक गर्भवती महिला का अस्पताल वालों ने इसलिए इलाज करने से मना कर दिया क्यूंकि उस गर्भवती महिला के पास उस वक़्त आधार कार्ड नहीं था।
आपकी जानकारी के लिए बता दे कि अस्पताल वालों के इलाज से मना करने के बाद वह गर्भवती महिला दर्द से सड़क पर तड़पती रही, और उस गर्भवती महिला के परिजन अस्पताल प्रशासन से गिड़गिड़ाते रहे लेकिन उनका दिल ऐसे हालात देखकर भी बिलकुल नहीं पसीजा। बताया जा रहा है कि डॉक्टरों ने उस गर्भवती महिला का आधार कार्ड न होने की वजह से इलाज नहीं किया जिसके कारण उस गर्भवती महिला का प्रसव अस्पताल के बाहर ही हो गया।
बता दे कि वह गर्भवती महिला इलाज के लिए सोमवार को जिले के राजकीय अस्पताल शाहगंज में पहुंची, डॉक्टरों ने प्रसव पीड़ा से कराह रही उस गर्भवती महिला को भर्ती करने से इसलिए मना कर दिया क्यूंकि उस महिला के पास बैंक की पासबुक और आधार कार्ड नहीं था। वह महिला प्रसव पीड़ा से कराह रही थी और उसके परिजन उसकी जान बचाने के लिए डॉक्टरों से हाथ जोड़कर गिड़गिड़ाते रहे, लेकिन डॉक्टर को उस गर्भवती महिला पर जरा सा भी तरस नहीं आया। उस महिला के परिजनों ने अस्पताल प्रशासन पर आरोप लगाया कि महिला डॉक्टर ने उन्हें डाटकर भगा दिया।
इस तरह का मामला ये कोई पहला मामला नहीं है, अगर ऐसे ही देश के अस्पतालों में इस तरह का व्यवहार होता रहा तो एक दिन हर किसी का इंसानियत नाम से भरोसा उठ जाएगा। इससे पहले भी अस्पतालों में कई ऐसे लापरवाही के मामले सामने आ चुके हैं, जिससे कई मासूमों की जान भी जा चुकी है।
ये भी पढ़ें :-  कासगंज हिंसा पर बीजेपी विधायक बोले-'कासगंज हिंसा वाले इलाकों के हर घर में AK-47 है'
लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>