आरुषि मर्डर केस: इलाहाबाद हाईकोर्ट ने आरुषि के मर्डर में माता-पिता को किया बरी..

Oct 12, 2017
आरुषि मर्डर केस: इलाहाबाद हाईकोर्ट ने आरुषि के मर्डर में माता-पिता को किया बरी..

देश की सबसे बड़ी मर्डर मिस्ट्री में से एक आरुषि हत्या कांड में उच्च न्यायालय ने निचली अदालत के फैसले को पलटते हुए आरुषि के माता-पिता को बरी कर दिया है। यानि कि आरुषि और हेमराज के कातिल उसके माता-पिता नहीं हैं। इलाहबाद हाईकोर्ट के इस फैसले के बाद ये सवाल खड़ा हो गया है कि आखिर आरुषि को कातिल कौन हैं..?

पूरा मामला ये है कि 16 मई 2008 की रात को नोएडा के जलवायु विहार में आरुषि की उसके ही घर में हत्या कर दी गई थी। एक दिन बाद उसके नौकर हेमराज का शव उसी घर की छत से मिला। जिसके 5 दिन बाद पुलिस ने ये दावा करते हुए आरुषि के माता-पिता को गिरफ्तार कर लिया कि राजेश ने आरुषि और हेमराज को आपत्तिजनक हालत में देखने के बाद दोनों की हत्या कर दी है। फिलहाल गाजियाबाद की डासना जेल में तलवार दंपती सजा काट रहे हैं। इस मामले में न्यायमूर्ति बी़ के. नारायण और न्यायमूर्ति अरविंद कुमार मिश्र की पीठ ने सीबीआई की जांच में कई खामियों का हवाला देते हुए दोनों को बरी कर दिया।

ये भी पढ़ें :-  हरियाणा: भाजपा सांसद के शर्मनाक बोल- 'सरकार से पूछ कर नही होती हैं रेप की घटनाएं'

इससे पहले 25 नवंबर 2013 को गाजियाबाद की विशेष सीबीआई कोर्ट ने हालात से जुड़े सबूतों के आधार पर दोनों को उम्रकैद की सज़ा सुनाई थी, सीबीआई के फैसले के खिलाफ़ आरुषि की हत्या के दोषी माता-पिता हाई कोर्ट गए, और जनवरी 2014 में दोनों ने इलाहाबाद हाइकोर्ट का दरवाज़ा खटखटाया था।

लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>