एक जवान शहीद, मुठभेड़ में चार आतंकवादी ढेर

May 28, 2016

उत्तरी कश्मीर में कुपवाड़ा जिले के नौगाम सेक्टर में नियंत्रण रेखा के निकट घुसपैठ को रोकने के लिए चलाए गये अभियान में चार आतंकवादी मारे गये जबकि सेना का एक जवान भी शहीद हो गया है.

शमसाबरी रेंज में 13000 फुट की ऊंचाई वाले क्षेत्र में पीओके की तरफ से उत्तरी कश्मीर में घुसपैठ की कोशिश कर रहे भारी हथियारों से लैस चार आतंकियों को ढेर कर शहीद होने वाले 36 वर्षीय हवलदार हंगपन दादा ने अदभुत शौर्य का परिचय दिया.

पिछले साल ही ऊंचाई वाले रेंज में तैनात किये गए, दादा कहे जाने वाले हवलदार की टीम ने गुरुवार को क्षेत्र में आतंकियों की गतिवधियां देखी और उन्हें मुठभेड़ के लिए ललकारने में जरा भी वक्त नहीं गवाया.

1997 में सेना की असम रेजीमेंट में शामिल होने वाले दादा 35 राष्ट्रीय राइफल्स में तैनात थे. यह बल अभी आतंकरोधी अभियानों में हिस्सा लेता है.

सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने आज बताया कि ऊंचाई का फायदा उठाकर पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर की तरफ से पार करने वाले आतंकवादियों के साथ मुठभेड़ में वह बुरी तरह घायल हो गये.

अधिकारी ने कहा कि अपनी सुरक्षा की परवाह किये बिना अदभुत शौर्य का परिचय देते हुए उन्होंने देश के लिए सर्वोच्च बलिदान किया.

वह मौके पर डटे रहे जहां आतंकवादी छिपे हुए थे. मौके पर ही दो आतंकी मारे गए और तीसरा आज मुठभेड़ के बाद पहाड़ी से लुढककर मारा गया. एक आतंकी को उन्होंने कल खुद गोली मारी थी.

अधिकारी ने बताया कि सुदूरवर्ती अरूणाचल प्रदेश में बोदुरिया गांव के निवासी दादा ने आतंकियों की ओर से भारी गोलीबारी के बीच अपने टीम के सदस्यों की जान बचायी. उनके शव को उनके पैतृक गांव ले जाया जा रहा है जहां पर सैन्य सम्मान के साथ अंतिम विदायी दी जाएगी.
अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

 

 

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>