भगवा चोले में सामने आया हवस का पुजारी, स्वामी कौशलेंद्र प्रपन्नाचारी पर यौन शोषण का मामला दर्ज

Sep 21, 2017
भगवा चोले में सामने आया हवस का पुजारी, स्वामी कौशलेंद्र प्रपन्नाचारी पर यौन शोषण का मामला दर्ज

आसाराम बापू, गुरुमीत रामरहीम के बाद एक और भगवा चोले की आढ़ में भोलीभाली लड़कियों को अपनी हवस का शिकार बनाने वाले संत कौशलेंद्र प्रपन्नाचार्य फलाहारी महाराज का नाम सामने आया है जिन के खिलाफ एक लॉ इंटर्न छात्रा ने दुष्कर्म के प्रयास का मुकदमा दर्ज करवाया है।

बता दें कि यह मामला है राजस्थान के अलवर जिले का जहां के नामचीन संत कौशलेंद्र प्रपन्नाचार्य फलाहारी महाराज के खिलाफ एक 21 वर्षीय छात्रा ने छत्तीसगढ़ के बिलासपुर के थाने में रिपोर्ट दर्ज करवाई। छात्रा ने उन पर कई सनसनीखेज आरोप लगाए हैं। दूसरी तरफ मामला दर्ज होने के बाद बाबा की तबीयत बिगड़ गई। जिस की वजह से उन्हें हॉस्पिटल के आईसीयू में भर्ती करवाया गया। मिली रिपोर्ट के अनुसार छात्रा ने जयपुर में रहकर लाॅ की पढ़ाई की। जहाँ उसे LLB की पढ़ाई के दौरान बाबा कौशलेंद्र प्रपन्नाचारी की सिफारिश पर ही सुप्रीम कोर्ट के एक वकील के अधीन अपना इंटर्नशिप पूरा किया था। इंटर्नशिप पूरा होने के बाद छात्रा को तीन हजार रूपए का मानदेय दिया गया था।

ये भी पढ़ें :-  लालू का CM नीतीश पर बड़ा हमला, बताया गोडसे व हिटलर का सबसे बड़ा पुजारी

लेकिन जब छात्रा ने इन रुपयों को परिवार के हवाले करना चाहा तो परिजनों ने उसे यह पहली कमाई अलवर में ‘फलाहारी बाबा’ को समर्पित करने की सलाह दी। छात्रा के बयान के अनुसार वो 7 अगस्त यानी रक्षाबंधन के दिन बाबा के दर्शन करने अलवर स्थित दिव्य धाम पहुंची थी। जहाँ उसने इंटर्नशिप के तौर पर मिले रुपयों को फलाहारी महाराज को अर्पित कर दिया। जिसके बाद बाबा ने उसको रात दिव्य धाम में ही रूकने का आदेश दिया। साथ ही कहा उसको बेहतर भविष्य के लिए गुप्त दिव्य मंत्र देंगे। छात्रा का आरोप है कि उसको शाम साढ़े सात बजे बाबा ने दिव्य धाम के अपने कक्ष में बुलाया। जहाँ उन्होंने छात्रा को अपने राजनीतिक, नौकरशाही, प्रशासनिक क्षेत्र से जुड़े लोगों से रसूखात बताते हुए अपने मोबाइल फोन पर उनकी तस्वीरें भी दिखाई। इतना ही नहीं बल्कि बाबा ने पीड़िता को जज बनवा देने का आश्वासन भी दिया। जिसके बाद आपत्तिजनक शब्द कहना शुरू कर दिए जिससे छात्रा सहम गई।

ये भी पढ़ें :-  जोधपुर पहुंचे गृहमंत्री राजनाथ सिंह को जवानों ने ‘गार्ड ऑफ ऑनर’ देने से किया इनकार

जिस के बाद बाबा ने पीड़िता को प्रसाद खाने को कहा, जिसके खाने के बाद वह अचेत सी हो गई और फिर पीड़िता ने वैसा ही किया जैसा बाबा ने कहा। लेकिन कुछ ही समय बाद एक बच्चे ने कमरे का दरवाजा खटखटाया, जिस से वो घबरा गई और मौका पाकर उस कमरे से बाहर निकल गई। बाबा की इन हरकतों से घबराकर छात्रा दिव्य धाम परिसर से बाहर निकलकर वेद विद्यालय स्थित आश्रम में जा पहुंची। जहां वह एक कमरे में रुकी और दूसरे दिन सुबह वहां से मौका पाकर निकल गई और जयपुर चली गई। जहाँ करीब बीस दिन अवसाद में रही।

ये भी पढ़ें :-  आरएसएस न होता तो हम 'वंदे मातरम' के बारे में नहीं जान पाते: योगी आदित्यनाथ

मिली जानकारी के के मुताबिक इसी दौरान बाबा राम रहीम को यौन शोषण का मामला सामने आ गया। जिसको देखकर छात्रा ने भी हिम्मत जुटाकर अपने साथ हुई इन हरकतों के बारे में परिजनों से अपनी पूरी आपबीती सुनाई जिसके बाद परिजन उसे लेकर छत्तीसगढ़ के डीजीपी एएन उपाध्याय से मिले। तब स्थानीय पुलिस ने मामले को गंभीरता से लिया, और पीड़िता का बयान दर्ज कर फलाहारी बाबा के खिलाफ जीरो नंबर एफआईआर दर्ज कर ली गई है। एसपी अलवर के मुताबिक पुलिस ने पीड़िता को बयान देने के लिए राजस्थान बुलाया है। जहां वो शिनाख्तगी और दूसरी कार्रवाई करेगी।

लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>