फूट-फूट कर रोता रहा दूल्हा मगर फेरे लेती रही दुल्हन, तमंचे की नोक पर हुई शादी

Jan 03, 2018
फूट-फूट कर रोता रहा दूल्हा मगर फेरे लेती रही दुल्हन, तमंचे की नोक पर हुई शादी

बिहार में एक लड़के को बंधक बनाकर जबरन शादी करने का एक मामला सामने आया है। जहाँ पर दूल्हा अपनी जान बचाने के लिए जगह-जगह गुहार लगाता रहा मगर उसे मारपीट कर जबरन मंडप में बैठाया गया और उसकी शादी कर दी गई।

बता दें कि ये मामला पटना जिला के पंडारक थाना क्षेत्र का है। जहाँ से मिली जानकारी के मुताबिक झारखंड के बोकारो स्टील प्लांट में एक्जिक्यूटिव इंजीनियर विनोद अपने दोस्त की शादी में शामिल होने के लिए मोकामा गया था। इसी बिच एक शख्स ने एक नेता से बात कर विनोद को मनचाहा ट्रांसफर कराने का लालच दिया। लेकिन जब विनोद उनके साथ नेता से मिलने गया, तो वहां उसके साथ हैरान कर देने वाला मामला सामने आया क्योंकि वह जैसे ही एक घर में गया कुछ लोगों ने उसे पकड़ लिया और उसकी पिटाई करनी शुरू कर दी। जहाँ सभी लोग पिस्टल और बंदूक से लैस थे, उसे वहां रस्सी से बांधकर रखा गया।

उसके बाद विनोद यादव को धोखे में रखकर मोकामा से अगवा कर पंडारक ले जाया गया। वहां ले जाने के बाद उसके साथ मारपीट करते हुए उसकी शादी कराई जाने लगी। जिस पर इंजीनियर दूल्हा ने इसका विरोध करने लगा, और रोता रहा मगर इन्होंने जबरन उसके हाथ पाव रंगे गए। मौरी पहनाई गई और मगर इस दौरान दूल्हा रोता रहा, लेकिन किसी को उस पर दया तक नहीं आई। शादी के मंडप में पहले से ही सारी तैयारियां हो गई थी। मंडप देख विनोद ने भागने की कोशिश भी की, लेकिन लड़की के घरवालों ने उसे पकड़ लिया। जिसके बाद इस शादी की वीडियोग्राफी भी कराई गई। वीडियो फुटेज में दिख रहा है कि शादी के दौरान दूल्हा किस तरह से रो रहा है। वह छोड़ देने की गुहार लगा रहा है। लड़की के घरवाले धमकी देकर उसे चुप रहने को कहते हैं। जबरन शादी कराने के आरोपी सुरेंद्र यादव और यहाँ ताकि उसके साथियों ने यह भी कहा कि आपको फांसी नहीं दे रहे हैं, शादी करा रहे हैं। एक करोड़ से अधिक शादियां इसी तरह हुई हैं और आपकी शादी हुई तो इस में कौन सा पहाड़ टूट गया।

इसके बाद लड़की के रिश्ते के बहनोई के फोन से उसने अपने परिजनों को मामले की जानकारी दी और फिर पुलिस पहंची। लेकिन पुलिस उसे छुड़ा कर नहीं ले गई। इसके बाद फिर दबाब पड़ने पर पुलिस पहुंची और उसे लेकर थाना आई। जहां उन लोगों ने मामला दर्ज नहीं किया। वैसे ये माला 3 दिसंबर का बताया जा रहा है। उसके अगले दिन यानि कि पुलिस ने 4 दिसंबर की पूरी रात विनोद को लॉकअप में रखा और अवधेश अगले दिन ही अपने भाई से मिल पाया। पुलिस ने मामले में FIR तो दर्ज कर लिया है, लेकिन वारदात के करीब एक महीना बीत जाने के बाद भी अब तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>