मुस्लिम पर्सनल ला बोर्ड की ओर से आया बड़ा बयान, एयर इंडिया को मिल रही थी हज सब्सिडी, मुस्लिम तो सिर्फ बदनाम थे

Jan 17, 2018
मुस्लिम पर्सनल ला बोर्ड की ओर से आया बड़ा बयान, एयर इंडिया को मिल रही थी हज सब्सिडी, मुस्लिम तो सिर्फ बदनाम थे

मुस्लिम समुदय की लोग काफी सालों से हज सब्सिडी को बंद कराने की मांग कर रहे थे, जो अब जाकर आख़िरकार पूरी हो गयी। इस पर ऑल इण्डिया मुस्लिम पर्सनल ला बोर्ड ने अपनी ख़ुशी जाहिर की है।

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि ऑल इण्डिया मुस्लिम पर्सनल ला बोर्ड ने के अनुसार हज सब्सिडी के लिए तो मुस्लिम सिर्फ बदनाम थे, बल्कि हज सब्सिडी तो घाटे में चल रहे एयर इंडिया को दी जा रही थी। बोर्ड ने आगे कहा कि हज सब्सिडी के जरिए मुसलमानो को सिर्फ बदनाम किया जा रहा था। ऑल इण्डिया मुस्लिम पर्सनल ला बोर्ड के महासचिव मौलाना वली रहमानी ने इस मामले बात करते हुए बताया कि, सरकार सब्सिडी हज यात्रियों को नहीं दिया करती थी, बल्कि घाटे में चल रही एयर इंडिया को सरकार मदद के लिए सब्सिडी दिया करती थी। मुस्लिमों से सब्सिडी के नाम पर सिर्फ धोखा किया जाता था, और ये एक छल था जो मुस्लिमों के साथ किया जाता था।

ये भी पढ़ें :-  कासगंज हिंसा पर बोले रामगोपाल यादव-'हिंदू ही हिंदू को मार रहा लेकिन फँसाए जा रहे मुसलमान'

आगे उन्होंने इस मामले में बात करते हुए कहा कि हज सब्सिडी बुनियादी तौर पर एयर इण्डिया के लिए हुआ करती थी, हाजियों के लिए नहीं, अगर बिना किसी सब्सिडी के हाजियों से किराया लिए जाये तो वह कम होगा। ऑल इण्डिया मुस्लिम पर्सनल ला बोर्ड के महासचिव मौलाना वली रहमानी ने आगे बताया कि जब हज यात्री विमान के टिकट के थोक खरीदार हैं तब उनका किराया सस्ता रहना चाहिए,जबकि वह महँगा रहता है। उन्होंने आगे बात करते हुए बताया कि इंटरनेशनल एयर ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के द्वारा नियम लागू होता है अगर कोई व्यक्ति किसी तीर्थस्थल पर जा रहा है तब उसे किराये में 40 प्रतिशत की छूट मिलेगी, उन्होंने कहा कि अगर किराया सस्ता न हो पाए तब उतना तो होना चाहिए जितना सामन्य दिनों में रहता है।

ये भी पढ़ें :-  निमोनिया से पीड़ित 15 माह की बच्ची को तांत्रिक ने गर्म सलाख से दागा, हालत गंभीर
लाइक करें:-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>