86 फीसदी चलन में न आने वाले नोट क्या बैंकों में वापस आ चुके हैं, अरुण जेटली ने कहा- मुझे नहीं पता

Jan 06, 2017
86 फीसदी चलन में न आने वाले नोट क्या बैंकों में वापस आ चुके हैं, अरुण जेटली ने कहा- मुझे नहीं पता

पीएम नरेंद्र मोदी ने 8 नवंबर 2016 को राष्ट्र को संबोधित करते हुए 500 रुपए और 1000 रुपए के नोटों को बंद करने का ऐलान किया था। उन्होंने इन नोटों को बैंकों और पोस्ट ऑफिसों में जमा करवाने और एक्सचेंज करने की आखिरी तारीख 30 दिसंबर तक रखी थी। अमान्य करार दिए गए कुल 86 फीसदी यानी 15.5 लाख करोड़ नोट चलन में थे। नोटों को जमा करवाने की आखिरी तारीख नजदीक आने के बीच ब्लूमबर्ग को सूत्रों ने बताया था कि बैंकों में 15 लाख करोड़ रुपए डिपॉजिट हो चुके हैं।

ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट के मुताबिक, 500 रुपए और 1000 रुपए के महज कागज के टुकड़े करार दिए गए लगभग सभी नोट बैंकों में वापस आ चुके हैं। इसका मतलब यह हुआ कि नोटबंदी के जरिए कालेधन की धरपकड़ और इसे खत्म कर देने की सरकार की कोशिश नाकाम हो चुकी है। जब वित्त मंत्री अरुण जेटली से इस अनुमान के सही होने के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा- मैं नहीं जानता। न तो सरकार और न ही रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने आधिकारिक तौर पर यह खुलासा किया है कि कितने पैसे RBI में वापस आ चुके हैं। 14 दिसंबर को आरबीआई ने कहा था कि करीब 12.5 लाख करोड़ रुपए जमा हो चुके हैं। आरबीआई ने बैंकों से कहा था कि वह 500 और 1000 रुपए के कुल जमा नोटों की रिपोर्ट जल्द से जल्द सौंपे। वहीं वित्त मंत्रालय ने कहा था कि उसने डबल काउंटिंग से बचने के लिए फिर से गिनती करने के लिए कहा है।

ये भी पढ़ें :-  शिवराज के गृहनगर में फिर किसान ने की आत्महत्या, 8 दिनों में 12 किसान दे चुके है अपनी जान
लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>