8 साल की उम्र में 8 बार बेचा गया और 100 बार किया रेप

Aug 26, 2016
8 साल की उम्र में 8 बार बेचा गया और 100 बार किया रेप

इराक की रहने वाली 17 साल की एक यजीदी लड़की यास्मीन ने अपनी अापबीती सुनते हुए बताया कि कैसे 8 साल की उम्र में उसे 10 महीने में 8 बार बेचा गया और 100 बार रेप किया गया। इराक से लाई गईं 1,100 महिलाओं में से सबकी कहानी ऐसी ही दर्दनाक है।

यास्मीन ने बताया कि वह रिफ्यूजी कैंप में दो हफ्तों से छिपी हुई थी। एक दिन उसे अपने कैंप के बाहर आईएस के लड़ाकों की आवाज सुनाई दी तो उसकी रूह कांप गई। उसे अपने साथ हुई हैवानियत याद आ गई और फिर उसी दलदल में जाने से मरना या बदशक्ल हाेना ठीक लगा। उसने खुद पर कैराेसीन डालकर अाग लगा ली। ताकि अगर वह बच गई, ताे बदशक्ल हाेने के चलते से दाेबारा इस दर्द से गुजरना नहीं पड़ेगा। इस घटना में यास्मीन के बाल और चेहरा जल गए। उनकी नाक, होंठ और कान पूरी तरह पिघल गए।

ये भी पढ़ें :-  किम की मौत पर उत्तर कोरिया के राजदूत तलब

जर्मनी के डॉक्टर यान इल्हान किजिलहान को यास्मीन इसी हालत में पिछले साल उत्तरी इराक के एक रिफ्यूजी कैंप में मिली थी। अब वह जर्मनी में मानसिक इलाज करवा रही हैं। शारीरिक रूप से तो पूरी तरह नकारा हो ही चुकी यास्मीन पहले ताे डॉक्टर को अपनी ओर आते देख चिल्लाने लगती थी कि कहीं उसके अपहरणकर्ता ही तो नहीं आ गए। लेकिन अब वह ठीक है। हालांकि अाज वह उन दिनाें काे याद कर कांप उठती है।

यास्मीन का घर उत्तरी इराक के सिंजार इलाके में था। 3 अगस्त 2014 को इस्लामिक स्टेट वाले उस इलाके में घुसे और सारे यजीदियों को तीन समूहों में बांट दिया। युवा लड़काें काे लड़ाई में लगा दिया गया, बूढ़ों को दो विकल्प दिए गए, इस्लाम चुनो या मौत, जो नहीं माने उन्हें कत्ल कर दिया गया और तीसरा समूह यास्मीन जैसी महिलाओं का था जिन्हें गुलाम बना लिया गया। रिपोर्ट के मुताबिक, चार लाख यजीदी विस्थापित हुए, मारे गए या गुलाम बना लिए गए, जिनमें से 3,200 तो आज भी सीरिया में आईएस के कब्जे में हैं।

ये भी पढ़ें :-  हांगकांग के पूर्व सीईओ को भ्रष्टाचार मामले में 20 महीने की सजा

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected
error: 24hindinews.com\'s content is copyright protected