63 सालों से रेत खा रही हैं कुस्मावती, रोज खाती 1 किलो से अधिक रेत

Nov 06, 2016
63 सालों से रेत खा रही हैं कुस्मावती, रोज खाती 1 किलो से अधिक रेत
उत्तर प्रदेश – 78 साल की कुस्मावती वाराणसी  रहती है पिछले 63 सालों से कुस्मावती रेत खा रही हैं। कुस्मावती  रोज करीब 1 किलो से भी ज्यादा रेत खा जाती हैं। कुस्मावती  मानती है कि यदि उन्हें रेत ना मिले तो वे बीमार पड़ जाती हैं और यदि रेत खाती रहती हैं तो स्वस्थ रहती हैं. आखिर सोचने वाली बात है कि कोई इन्सान इस उम्र में रेत खाते हुए कैसे स्वस्थ रह सकता है। इसी बात को जानने के लिए पत्रकारों ने इनके पास जाकर कुछ सवाल पूछे, जिनके जवाब में कुस्मावती ने हैरान कर देने वाली बातें बताई। चट्टानों और कई धात्विक साधनों से टूट कर कणों के रूप में रेत बनती है. बालू में भूख मिटाने लायक कुछ नहीं होता और यदि इसे खा लिया जाए तो पचाना आम इंसान के बस का नही है। पूछे गए सवालो इस तरह दिए कुस्मावती ने जवाब
सवाल: आप इतना रेत कब और कैसे खाती हैं?
जवाब: 15 साल की उम्र में बीमार पड़ी थी जिससे मेरा पेट फूलने लगा था, जिस पर गांव के एक वैद्य ने नाड़ी देख कर कहा कि दूध और 2 चम्मच रेत खाओ। तभी से रेत खाने की आदत पड़ी।
सवाल: जिस दिन आप नही खाती हैं उस दिन क्या होता है?
जवाब: रेत ना खाने पर पेट में दर्द होता है और रात को नींद नही आती।

सवाल: रेत का टेस्ट कैसा लगता है?
जवाब: चीनी की तरह मीठा।
सवाल: रोज कितना रेत खाती हैं आप?
जवाब: एक किलो रेत रोज खाती हूं।

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे
लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>