4 दिन नंगी बांध के रखा महिला को, पूरा गांव देखता रहा तमाशा

Jun 25, 2016
कानोड़/उदयपुर, राजस्थान। क्या पूरा का पूरा समाज इतना निर्दयी हो सकता है। कोई एक भी नहीं था जिसे दया आई। पति तो पहले ही जुल्म किया करता था, उससे मुक्ति के लिए जिस प्रेमी के साथ भागी, वो भी दगा दे गया। गांववालों ने उसे भी पकड़ा था, लेकिन 80 हजार रुपए फिरौती लेकर छोड़ दिया। अपनी मुक्ति के बाद भी उसने महिला को बचाने का कोई प्रयास नहीं किया। लोगों ने उसे चार दिन तक बंधक बनाकर रखा। नग्नावस्था में पेड़ से बांध दिया। मारपीट की गई। महिला ने कहा कि पिता की उम्र जैसे बुजुर्गों के सामने वह गिड़गिड़ाती रही, लेकिन उस पर किसी को रहम नहीं आया। चार दिन बाद पहुंची पुलिस ने जब छापे मारे तो 60 घरों के पुरुष फरार हो गए।
भोपाल समाचार के अनुसार विक्टिम ने बताया, ”गांव से कुछ दूर ही हमें गाड़ी से उतारा था। उतारते ही कुछ लोग बोले कि इनके कपड़े उतार दो, फिर गांव में ले जाते हैं। यह सुन मेरा तो कलेजा बैठ गया। मैं लोगों के सामने रोई-गिड़गिड़ाई। सामने पिता की उम्र के बुजुर्ग थे और वे महिलाएं भी जो रोज बतियाती थीं। पति पर भरोसा था कि वे मदद करेंगे, पर उसके सामने ही शरीर से एक-एक कपड़ा हटता रहा और वो कुछ नहीं बोला…। बुजुर्ग तो इंसाफ करते हैं, पर वो भी कपड़े उतारते रहे। सारे कपड़े उतारकर लोग हम दोनों को गांव तक ले गए।
माथा शर्म से झुका तो लोग ताने मार रहे थे, भाई और देवर की उम्र के लड़के मोबाइल में फोटो खींचते रहे। तीन घंटे तक यह सब चलता रहा, पर किसी को लाज नहीं आई। फिर हमें माता के मंदिर के सामने पेड़ पर बांध दिया। मैंने कहा कि माता से तो डरो, पर लोग गालियां देते रहे। घंटों पेड़ पर बंधी रही, लोग आते रहे, तमाशा बनाते और गालियां देते रहे, पर किसी को दया नहीं आई।
अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे
लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

Jan 19, 2018

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>