‘हमलावर आईएस के नहीं, स्थानीय चरमपंथी थे’

Jul 03, 2016

बांग्लादेश के गृह मंत्री ने रविवार को कहा है कि ढाका में शुक्रवार रात हुए चरमपंथी हमले को अंजाम देने वाले लोग चरमपंथी संगठन आईएस के नहीं बल्कि स्थानीय चरमपंथी संगठन जमीअतुल मुजाहिद्दीन बांग्लादेश के थे.

समाचार एजेंसी एएफ़पी से बात करते हुए मंत्री असदुज़्ज़मान ख़ान ने कहा, “उनका (हमलावरों का) इस्लामिक स्टेट से कोई संबंध नहीं है.”

इससे पहले ईराक और सीरिया में सक्रिय चरमपंथी संगठन आईएस ने कथित हमलावरों की आईएस के झंडे के साथ कुछ तस्वीरें रिलीज़ की थीं.

शुक्रवार रात को हथियारों से लैस चरमपंथियों ने ढाका के एक कैफ़े में 20 लोगों को बंधक बना लिया था और फिर उन्हें जान मे मार दिया था.

इस हमले में नौ जापानी, सात इतालवी, दो बांग्लादेशी, एक बांग्लादेशी मूल का अमरीकी और एक भारतीय लड़की मारे जाने की ख़बर है. सुरक्षा बलों की कार्रवाई में छह चरमपंथी भी मारे गए.

बांग्लादेश के कमांडो 13 लोगों को आज़ाद कराने में कामयाब रहे थे.

बांग्लादेश ने इन हमलों के बाद दो दिनों के राष्ट्रीय शोक का ऐलान किया है.

इस शोक का ऐलान करते हुए प्रधानमंत्री शेख़ हसीना ने देश में चरमपंथी हमलों से लड़ने की अपनी मंशा ज़ाहिर की.

उन्होंने कहा, “धर्म में यकीन करने वाला कोई भी व्यक्ति ऐसा काम नहीं कर सकता, उनका कोई धर्म नहीं होता है, उनका एकमात्र धर्म है चरमपंथ.”

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप कर सकते हैं. आप हमें और पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>