‘संपत्तियां ज़ब्त करोगे तो कर्ज़ कैसे चुकाऊंगा’

Jun 13, 2016

उद्योगपति विजय माल्या ने कहा है कि अगर प्रवर्तन निदेशालय उनकी चल- अचल संपत्ति ज़ब्त कर लेगा तो उनके लिए बैंकों का कर्ज़ चुकाना मुश्किल हो जाएगा.

प्रवर्तन निदेशालय ने शनिवार को माल्या और यूनाइटेड ब्रूअरीज़ होल्डिंग्स लिमिटेड की 1,411 करोड़ रुपए की संपत्तियां ज़ब्त कर लीं.

संपत्तियां ज़ब्त करने पर उन्होंने सवाल उठाए हैं, माल्या ने कहा है कि यूबी ब्रूअरीज़ होल्डिंग लिमिटेड एक सार्वजनिक कंपनी है और ईडी की कोई जांच भी उस पर लंबित नहीं और कथित तौर पर ज़ब्त की गई संपत्तियां किंगफ़िशर एयरलाइन्स के गठन से बहुत पहले की भी हैं.

उन्होंने ईडी के इस कदम को कानूनी तौर पर आधारहीन बताया और कहा कि इससे बैंकों का कर्ज़ चुकाने के लिए धन जुटाने में अड़चनें खड़ी हो रही हैं.

ये भी पढ़ें :-  रॉड लेकर भारत में दाखिल हुए चीनी सैनिक, जब भारतीय जवानों ने रोका तो..

शराब कारोबारी विजय माल्या पर आईडीबीआई बैंक के 900 करोड़ रुपए का कर्ज़ नहीं चुकाने के मामले में जांच चल रही है.

विजय माल्या ने एक बयान जारी किया है जिसमें उन्होंने लिखा है कि ऋण वसूली के दीवानी मामले को बिना किसी आधार आपराधिक आरोपों से जोड़ा जा रहा है.

विजय माल्या ने लिखा है, ”मैं जांच के बारे में जानकर बहुत दुखी हूं. ये बहुत दुखद है कि हज़ारों कागज़ात जमा करने और कई कर्मचारियों से पूछताछ के बाद भी हम ये नहीं समझा सके हैं कि कुछ ग़लत नहीं किया गया है.”

उन्होंने कहा कि सभी जांच एजेंसियों का रवैय्या भेदभावपूर्ण रहा है और मुझे मुकदमे के बग़ैर ही दोषी माना जा रहा है, जैसे कि इसके बाद मुझे खुद को निर्दोष साबित करना होगा.

ये भी पढ़ें :-  बड़ा खुलासा: क्या इंदिरा गांधी के बेटे हैं अमिताभ बच्चन?

विजय माल्या ने किसी भी वित्तीय गड़बड़ी से इनकार करते हुए कहा है कि यूबी ग्रुप ने किंगफ़िशर एयरलाइन्स में 6,000 करोड़ रुपए लगाए हैं जो वास्तविक व्यापारिक घाटे में डूब गए. उस समय सरकार ने एयर इंडिया को 30 हज़ार करोड़ का बेलआउट पैकेज दिया था जिससे ये साफ़ होता है कि उड्डयन क्षेत्र में उन दिनों मंदी का दौर चल रहा था.

किंगफ़िशर एयरलाइन्स ने आईडीबीआई बैंक से लिए गए ऋण के कुछ हिस्से का ग़ैर वाजिब इस्तेमाल करने के प्रवर्तन निदेशालय के दावे पर जवाब दिया है. विजय माल्या ने कहा कि किंगफ़िशर एयरलाइन्स ने बैंक स्टेटमेंट से लेकर बाकी कागज़ात दिए हैं जिससे ये साबित होता है कि पैसा वैध तरीकों से इस्तेमाल हुआ है.

ये भी पढ़ें :-  एक बार ज़रूर पढ़े: महिलाओं की चोटी कटने के पीछे है अंधविश्वास का जिन्न

उन्होंने कहा कि अगर प्रवर्तन निदेशालय चाहे तो अपनी जांच के दायरे में सभी बैंकों को शामिल कर सकती है, किंगफ़िशर एयरलाइन्स सारी जानकारी देने के लिए तैयार है.

माल्या ने कहा है, “अब प्रवर्तन निदेशालय पीएमएलए अदालत से मुझे भगोड़ा घोषित करने के लिए कहने जा रहा है, मुझे इसकी वजह समझ नहीं आ रही.”

माल्या बैंकों के कंसोर्शियम के साथ करीब 9,000 करोड़ रुपए के कर्ज़ पर समझौता करने की पेशकश कर चुके हैं.

फ़िलहाल विजय माल्या लंदन में हैं और उनके ख़िलाफ़ रेड कॉर्नर नोटिस जारी है.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए . आप हमें और पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>