गोमांस सैंपल अख़लाक़ के घर का नहीं: पुलिस

Jun 01, 2016

मोहम्मद अख़लाक़ की हत्या के मामले में जिस रिपोर्ट का हवाला देकर ये कहा जा रहा है कि मीट का सैंपल गोमांस था, वो सैंपल अख़लाक़ के घर से नहीं मिला था.

नोएडा के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक किरन एस ने बीबीसी से कहा है, ‘मथुरा लैब की जिस नई रिपोर्ट की बात की जा रही है, उस रिपोर्ट में जांच का सैंपल मीट अख़लाक के घर के पास एक ट्रांसफ़ार्मर के नज़दीक मिला था.’

उन्होंने कहा, ‘मोहम्मद अख़लाक का शव भी वहीं पाया गया था.’

किरन एस ने साफ़ किया कि ‘सैंपल के गोमांस होने से जांच पर कोई असर नहीं पड़ेगा क्योंकि ये हत्या का मामला है.’

मंगलवार को आई एक रिपोर्ट के अनुसार दिल्ली से सटे नोएडा के दादरी इलाक़े में गोमांस खाने की अफवाह में भीड़ के हाथों मारे गए मोहम्मद अख़लाक़ के घर से मिले मांस को एक लैब ने गाय का मांस बताया था.

इसके पहले एक लैब ने फॉरेंसिक जांच में अख़लाक़ के फ्रिज़ में मिले मांस को बकरे का मांस होने की जानकारी दी थी. दूसरी रिपोर्ट मथुरा की एक लैब ने दी है.

रिपोर्ट के मुताबिक़, “मांस का सैंपल गाय या बछड़े का है.”

उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक जावेद अहमद ने एक टीवी चैनल को बताया, “शुरुआत में हमने कहा था कि ये बकरे का मांस था, लेकिन बाद में इस लैब ने हमें बताया कि ये गाय का मांस था.”

मोहम्मद अख़लाक़ के घर पर बीते साल 28 सितंबर को भीड़ ने हमला कर दिया था. भीड़ के हमले में अख़लाक़ की मौत हो गई थी जबकि उनका एक बेटा घायल हो गया था.

आरोप है कि गांव के ही एक मंदिर के लाउडस्पीकर से अख़लाक़ के घर में बीफ़ पाए जाने की घोषणा की गई थी. इस मामले में पुलिस ने एक नाबालिग समेत 15 लोगों के ख़िलाफ़ चार्जशीट दाखिल की थी.

घटना के बाद अख़लाक़ के परिवार ने कहा था कि उनके घर में गाय का मांस नहीं था.

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक़ मथुरा लैब की रिपोर्ट सामने आने के बाद भी अख़लाक़ के परिवार ने पुराने दावे को दोहराया है.

इन रिपोर्टों के मुताबिक़ परिवार ने लैब की रिपोर्ट को ख़ारिज करते हुए कहा है कि उनके घर में किसी ने गाय का मांस नहीं खाया था.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप कर सकते हैं. आप हमें और पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>