राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित गोशाला में 15 गायों की मौत, 45 गायों की तबीयत खराब

Jul 16, 2017
राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित गोशाला में 15 गायों की मौत, 45 गायों की तबीयत खराब

भाजपा शासित छत्तीसगढ़ के रायगढ़ स्थित राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित चक्रधर गोशाला में शनिवार को अचानक 15 गायों की मौत हो गई। गोशाला के कर्मचारियों ने बताया कि 45 गायों की तबीयत अचानक खराब हो गई, शासन-प्रशासन जब तक हरकत में आता, 15 गायों ने दम तोड़ दिया। रायगढ़ की कलेक्टर शम्मी आबिदी ने संख्या घटाते हुए कहा, “कुल 10 में से 7 गायें मरी हैं। इनकी मौत ज्यादा आटा खा लेने की वजह से हुई है।”

शम्मी पिछले साल जब कांकेर की कलेक्टर थीं, तो वहां की कर्रामाड़ गोशाला में लगभग 300 गाएं भूख से मर गई थीं। इस घटना को लेकर जमकर बवाल भी हुआ था। आखिरकार राज्य सरकार ने उस गोशाला को ही बंद करवा दिया और वहां की गायों को दूसरी जगह भिजवा दिया था।

यह अच्छी बात है कि प्रदेश के कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल 15 गायों की मौत से बेहद गुस्से में हैं। उन्होंने कहा, “हम इसके हर पहलू की जांच करवाएंगे। इस घटना के लिए जो भी जिम्मेदार होगा उसे बख्शा नहीं जाएगा।”

विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष टी.एस. सिंहदेव ने कहा कि यह घोर लापरवाही है। एक ओर भाजपा के लोग गायों के हमदर्द बनकर बेगुनाह लोगों के साथ मारपीट कर रहे हैं। दूसरी ओर यहां की गोशालाओं में गोवंश की दुर्दशा भाजपा की कथनी और करनी के अंतर को स्पष्ट करता है।

उन्होंने कहा, “सवाल तो यहीं उठता है कि जब राष्ट्रपति से सम्मानित गोशाला का ये हाल है, तो बाकी गोशालाओं में क्या होता होगा? इस घटना पर अगर तत्काल कड़ी कार्रवाई नहीं की गई, तो भाजपा सरकार का गो-प्रेम न सिर्फ खोखला साबित होगा, बल्कि उससे लोगों का विश्वास भी उठ जाएगा।”

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>