105 साल के कैदी पर आई राज्यपाल को दया, रिहाई का दिया आदेश

Jan 12, 2017
105 साल के कैदी पर आई राज्यपाल को दया, रिहाई का दिया आदेश
सूबे की जेल में आजीवन सजा काट रहे एक कैदी की उम्र 105 साल हो गई है। मामला संज्ञान में आने के बाद राज्यपाल राम  नाईक ने समयपूर्व रिहाई के आदेश दिए हैं। बंदीकाल में अच्छे आचरण और अति वृद्ध होने के कारण राज्यपाल ने यह आदेश दिया है।
संवैधानिक शक्ति का किया प्रयोग
दरअसल राज्य सरकार की ओर से गोरखपुर निवासी चैथी की रिहाई की संस्तुति की गई थी। विशेष श्रेणी का मामला होने पर राज्यपाल ने संविधान के अनुच्छेद 161 के जरिए अपनी संवैधानिक शक्तियों का प्रयोग कर रिहाई के आदेश दिए हैं। गौरतलब है कि बंदी चैथी पुत्र  कुंजल निवासी गोरखपुर ने पुरानी रंजिश के चलते अपने साथियों के साथ मिलकर 25 जुलाई, 1979 को एक व्यक्ति की हत्या कर दी थी। दोष सिद्ध होने पर अपर सत्र न्यायालय, गोरखपुर द्वारा 8 जुलाई, 1982 को उसे आजीवन कारावास की सजा से सुनाई गई थी। बंदी चैथी अब तक 22 साल  की सजा काट चुका है।
लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

Jan 19, 2018

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>