लखनऊ के चर्च‌ित नमन वर्मा हत्याकांड में भी है मुनीर का हाथ

Jun 30, 2016

एनआईए अफसर तंजील अहमद और उनकी पत्नी फरजाना हत्याकांड के मुख्य आरोपी मुनीर की गिरफ्तारी के बाद गोमतीनगर स्थित होटल रेनेसां के एग्जिक्यूटिव नमन वर्मा की सनसनीखेज हत्या की गुत्थी भी सुलझती नजर आ रही है। एसटीएफ सूत्रों का कहना है कि मुनीर ने बाइक लूटने के लिए ही नमन को गोली मार दी थी।

बाद में इसी बाइक से उसने तंजील की हत्या की। पूछताछ के दौरान मुनीर ने लखनऊ से बाइक लूटने की बात कुबूल भी कर ली है। मुनीर के पास मिली बाइक पर फर्जी नंबर पड़ा था।

एसटीएफ अधिकारियों ने बाइक का इंजन व चेसिस नंबर लेकर लखनऊ आरटीओ से संपर्क करने के साथ ही एसएसपी मंजिल सैनी को बाइक बरामद होने की जानकारी दे दी है।

एसटीएफ सूत्रों ने बताया कि एनआईए अफसर तंजील की हत्या के लिए मुनीर को रुपये, पिस्टल और बाइक चाहिए थी। मुनीर के कई साथियों ने धोखा दे दिया था इसलिए वह सऊद के साथ लखनऊ आ गया। तंजील की हत्या के लिए संसाधन उसने यहीं से जुटाए।

सबसे पहले 18 नवंबर की रात बाइक से घर जा रहे नमन को मधुरिमा रेस्टोरेंट के सामने फ्लाईओवर पर रोककर दो गोलियां मारीं और बाइक लूट ले गए। इसके ठीक एक सप्ताह बाद यानी 25 नवंबर की रात मुनीर और सऊद ने गोमतीनगर इलाके में ही जुगौली रेलवे क्रॉसिंग पर जस्टिस एके मित्तल की सुरक्षा में तैनात कांस्टेबल प्रमोद कुमार को तीन गोलियां मारकर सर्विस पिस्टल लूट ली थी।

एसटीएफ सूत्रों का कहना है कि दोनों बदमाशों ने लखनऊ में लूट की कुछ और वारदातें की हैं जिसके बारे में जानकारी की जा रही है। एनआईए अफसर तंजील की हत्या के लिए बाइक, असलहा और रुपये मिलने के बाद दोनों लखनऊ से निकल गए।

एसटीएफ से यह जानकारी मिलने के बाद लखनऊ पुलिस भी सक्रिय हो गई है। पुलिस की एक टीम बाइक की छानबीन के लिए नोएडा भेजी जा रही है। एसटीएफ के एसएसपी अमित पाठक का कहना है कि जो बाइक बरामद हुई है, वह नमन वर्मा की ही होने की बात सामने आई है। इसकी पुष्टि के लिए लखनऊ आरटीओ से कुछ डिटेल मंगाई गई है।

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>