देश का सबसे बड़ा संगठन RSS बटा दो टुकड़े में

Sep 02, 2016
देश का सबसे बड़ा संगठन RSS बटा दो टुकड़े में

गोवा के संघ चालक पद से वेलिंगकर के हटने के बाद आरएसएस के इतिहास में पहली बार विद्रोह हुआ है | सुभाष वेलिंगकर ने संघ के 600 से ज्यादा स्वयंसेवकों के साथ पृथक इकाई का गठन कर लिया है |

वेलिंगकर को आरएसएस की राज्य इकाई के प्रमुख पद से हटाने पर संघ के 600 से ज्यादा स्वयंसेवकों ने एक साथ इस्तीफा दे दिया था, अब इन्ही लोगो के साथ मिलकर वेलिंगकर पृथक इकाई का गठन भी कर लिया जिसके प्रमुख सुभाष वेलिंगकर होंगे | इस नए संगठन का नागपुर से कोई सम्बन्ध नहीं रहेगा, खास बात यह है कि महाराष्ट्र में बीजेपी की सहयोगी पार्टी शिवसेना ने सुभाष वेलिंगकर का समर्थन करते हुए बीजेपी को गोवा के चुनाव में इसके नतीजे भुगतने की चेतावनी भी दे दी |
गौरतलब है कि संघ से इस्तीफा देकर पृथक ईकाई बनाने वाले कार्यकर्ताओं ने बताया कि इस नए संगठन का नागपुर से कोई लेना-देना नहीं होगा | कम से कम अगले साल चुनाव तक यह संगठन नागपुर से कोई संबंध नहीं रखेगा | वेलिंगकर ने कहा कि हम सरसंघचालक का सम्मान करते हैं और करते रहेंगे |
बता दें कि प्राथमिक स्कूलों में राज्य सरकार की शिक्षण की भाषा नीति की आलोचना करने वाले वेंलिगकर ने सरकार पर कोंकणी और मराठी जैसी क्षेत्रीय भाषाओं के स्थान पर अंग्रेजी भाषा को बढ़ावा देने का आरोप लगाया था | वेंलिगकर पर 20 अगस्त को राज्य की यात्रा पर आए बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह को काले झंडे दिखाने का भी आरोप लगाया गया था जिसके कारण उन्हें आरएसएस की राज्य इकाई के प्रमुख पद से हटा दिया गया था |
कौन हैं वेलिंगकर :
 
वेलिंगकर बीते 54 साल से आरएसएस से जुड़े हुए हैं | पुर्तगालियों के शासन से गोवा के मुक्त होने के बाद जून 1962 में पणजी में महालक्ष्मी मंदिर में राज्य में आरएसएस की पहली शाखा लगी थी | मात्र 13 साल की उम्र में वेलिंगकर उस शाखा में शामिल हुए थे |
1975 में इमरजेंसी के दौरान मीसा के तहत गिरफ्तार किया गया था | वेलिंगकर ने उस वक्त 10 महीने जेल में बिताए |
68 साल के वेलिंगकर मूल रूप से टीचर रहे हैं | इन्होंने अपनी जिंदगी के 34 साल बतौर शि‍क्षक बिताएण् इसमें सात साल हेडमास्टर और 18 साल प्रिंसिपल रहे | वेलिंगकर को 1996 में गोवा विभाग संघचालक की जिम्मेदारी सौंपी गई और वह इस पद पर करीब 20 साल रहे |
भारतीय भाषा सुरक्षा मंच (बीबीएसएम) के संयोजक वेलिंगकर अंग्रेजी माध्यम के स्कूलों को दिया जाने वाला अनुदान रद्द किए जाने की मांग करते रहे हैं
अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे
लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>