चुनावी आहट में गर्म हुई BSP व BJP की राजनीति

Jul 25, 2016

फतेहपुर- उत्तर प्रदेश में होने वाले आगामी विधान सभा चुनाव की सरगर्मी सर चढ़ कर लगभग – लगभग बोलने लगी है, उसी के दरमियान भाजपा के नेता दया शंकर सिंह का अमर्यादित बयान व बयान पर बसपा सुप्रीमो सुश्री मायावती की प्रतिक्रिया व बसपा के कार्यकर्ताओं की खुले मंच से भाजपा नेता की मां – बहन – बेटी को गालियाँ व एफ आई आर उस पर भाजपा नेता की पत्नि स्वाति सिंह की तरफ से बसपाइयों पर एफ आई आर व मां – बहनों व बेटियों के सम्मान की बातों ने चुनावी गणितों को कुछ अलग सा कर दिया है | ऐसे में सवाल ये उठता है कि राजनीति में क्या अब मां – बहन – बेटी की मर्यादा भी तार – तार की जायेंगी या खुले मंच से संविधानिक शब्दों को भुलाकर असंवैधानिक बयानबाजियों की खुली छूट मिलती रहेगी ? संबंधित खबर- संबंधित खबर BJP नेता के विवादित बोल, वेश्या से की मायावती की तुलना

मां – बहन – बेटी किसी की भी हों सम्मान सबका होता रहा है और होना चाहिए ही लेकिन इस चुनावी परिवेश में नेताओं की मां – बहन – बेटियाँ अब शायद ही सुरक्षित रहें, ये सारी फिल्म पब्लिक ने स्वतः अपने आखों से चश्मदीद बनके देखा है, इस स्थिति में केंद्र व राज्य सरकार मौन बनकर तमाशबीन बनी हुयी हैं | सरकार में बैठे जिम्मेदार लोग अपने आप को पाक साफ़ व संविधान को मानने वाले बताते फिर रहे हैं चाहे वो केन्द्र सरकार के जिम्मेदार हों या फिर राज्य सरकार के जिम्मेदार लीडरान हों, इस सियासतदां को किसी साहित्यिक या सांस्कृतिक कार्यक्रमों में समाज व संविधान की दुहाई देखते ही देखा जाता है उसके बाद इन्ही भाषण देने वालों के काले कारनामे अख़बारों या समाचार चैनलों की सुर्ख़ियों में दिखाई देता है, ऐसे हैं देश व प्रदेश के जिम्मेदार | हाल में जो भी हुआ जनता से कुछ छिपा नहीं है इसका नतीजा जो भी आगामी विधान सभा के चुनावों में जरुर देखने को मिलेगा | संबंधित खबर- संबंधित खबर-

अन्य ख़बरों से लगातार अपडेट रहने के लिए हमारे Facebook पेज को Join करे

लाइक करें:-
कमेंट करें :-
 

संबंधित ख़बरें

वायरल वीडियो

और पढ़ें >>

मनोरंजन

और पढ़ें >>
और पढ़ें >>